गूगल अपने कुछ चुनिंदा यूजर्स के साथ गूगल मैप में ऑगमेंटेंड रियलिटी (एआर) का परीक्षण कर रही है. इस फीचर से लोगों को फोन के कैमरा से वास्तविक समय में नेविगेशन की सुविधा मिलेगी. द वर्ज में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, द वॉल स्ट्रीट जर्नल के डेविड पायर्स ने एआर नेविगेशन फीचर का अनुभव लिया. पायर्स ने कहा, “हालांकि यह प्राथमिक टर्न-बाय-टर्न विकल्प नहीं है. लेकिन यह गूगल मैप की सही दिशा में एक बड़ी छलांग है.”

उन्होंने विस्तार से बताया कि यह फीचर कैसे काम करता है. यह एप किसी व्यक्ति के लोकेशन को ग्लोबल पोजिशनिंग प्रणाली (जीपीएस) से प्राप्त करता है, और उसके स्ट्रीट व्यू डेटा की मदद से उसके सटीक लोकेशन तक पहुंचता है. एक बार जब लोकेशन का पता लग जाता है तो वह स्क्रीन पर एरो और दिशानिर्देश के द्वारा यूजर को रास्ता बताता है.

कंपनी ने इस आगामी एआर फीचर का प्रदर्शन गूगल के 2018 में हुए सालाना डेवलपर सम्मेलन में किया था. पायर्स ने कहा कि उन्होंने जो फीचर्स देखे हैं वे अभी परीक्षण के दौर में थे और उसमें बदलाव किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि यह फीचर केवल फोन पर ही नहीं, बल्कि एआर-सक्षम चश्मों में भी उपलब्ध होगा.

रिपोर्ट में कहा गया कि एप्पल, फेसबुक, गूगल, नॉर्थ, वुजिक्स और अन्य कंपनियां एआर पर काम कर रही है और खुद के एआर चश्मों की बिक्री करते है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top