अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हालात काफी खतरनाक हो गए हैं. उन्होंने संकेत दिया कि वाशिंगटन दोनों पड़ोसियों के बीच बढ़े तनाव को कम करने का प्रयास में लगा हुआ है. पुलवामा आत्मघाती हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हुए थे.

ट्रंप ने शुक्रवार को ओवल कार्यालय में संवाददाताओं को बताया, इस वक्त भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत ही बुरे हालात हैं. यह एक बहुत ही खतरनाक स्थिति है. हम इसे (शत्रुता) समाप्त होते हुए देखना चाहेंगे. बहुत से लोग मारे गए हैं. हम इसे रुकते हुए देखना चाहते हैं. हम इसमें (प्रक्रिया) सक्रिय रूप से शामिल हैं.

ट्रंप ने कहा, भारत कुछ शक्तिशाली कदम उठाने की ओर देख रहा है. भारत ने इस हमले में करीब 50 लोग खो दिए. मैं इसे समझ सकता हूं. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार दोनों देशों के अधिकारियों के साथ बातचीत कर रही है.

उन्होंने कहा, हम बात कर रहे हैं. बहुत से लोगों से बात हो रही है. यह एक बहुत ही संवेदनशील संतुलन होने जा रहा है. जो भी हुआ उसके कारण भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत सी समस्याएं हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने इससे पहले कहा था कि पुलवामा हमले ने अमेरिका और भारत के बीच आतंकवाद-रोधी सहयोग व समन्वय को मजबूत करने के हमारे संकल्प को मजबूत किया है.

इस्लामाबाद ने हालांकि आत्मघाती हमले में अपनी किसी भी संलिप्तता को नकार दिया है और भारत से कार्रवाई योग्य जानकारी मांगी है, जिसे नई दिल्ली ने ‘कमजोर बहाना’ करार दिया है.

शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन के दौरान एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जानी वाली सैन्य सहायता रद्द कर दी है क्योंकि पाकिस्तान को जिस तरीके से उसकी मदद करनी चाहिए थी, वह नहीं कर रहा है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top