बहु-चर्चित राफेल लड़ाकू विमान सौदे के सम्बंध में सीएजी की बहु-प्रतीक्षित रिपोर्ट राज्यसभा में पेश किये जाने पर बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा है कि संसद के बजट सत्र के आज अन्तिम दिन राफेल विमान सौदे पर बहु-प्रतीक्षित सीएजी रिपोर्ट जनता की नजर में आधी-अधूरी है.

मायावती ने कहा है कि यह न तो सम्पूर्ण है और न ही पूरी तरह से सही है. भाजपा सरकार में क्यों संवैधानिक संस्थाएं अपना काम पूरी ईमानदारी से नहीं कर पा रही हैं? देश चिन्तित है.

मायावती ने कहा कि पिछले पांच वर्षो के शासनकाल में बीजेपी सरकार एक भी राफेल लड़ाकू विमान वायुसेना के बेड़े में शामिल नहीं करा पाई है. क्या यही बीजेपी सरकार की राष्ट्रहित व राष्ट्रीय सुरक्षा है?





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top