देहरादून : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सोमवार सुबह सुरक्षाबल और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में देहरादून के मेजर विभूति  ढौंडियाल समेत चार जवान शहीद हो गए। जिसके बाद सेना के विशेष विमान से शहीद मेजर विभूति ढोंडियाल के पार्थिव शरीर को जॉलीग्रांट एयरपोर्ट लाया गया. वहीं एयरपोर्ट पहुंचने के बाद सेना वाहन द्वारा जॉलीग्रांट एयरपोर्ट से मेजर विभूति ढोंडियाल के पार्थिव शरीर को लेकर सड़क मार्ग से देहरादून के लिए रवाना किया गया.

एक तरफ शहीद मेजर का अंतिम संस्कार तो दूसरी तरफ लाया गया दूसरे शहीद मेजर का पार्थिव शरीर

एक और जहां आज शहीद मेजर चित्रेश बिष्ट का पार्थिव शरीर को अंतिम विदाई दी गई औऱ हरिद्वार में अंतिम संस्कार हुई तो वहीं दूसरी और जौलीग्रांट एय़रपोर्ट में आज पुलमावा में आतंकी मुठभेड़ में शहीद हुए शहीद मेजर वीएम ढौंडियाल का पार्थिव शरीर देहरादून जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचा.

विभूति ढौंडियाल सेना के 55 राष्‍ट्रीय राइफल में तैनात थे

32 वर्षीय मेजर विभूति ढौंडियाल सेना के 55 आरआर (राष्‍ट्रीय राइफल) में तैनात थे। उनका आवास देहरादून के नेशविला रोड पर है। उनकी मां बेटे की शहादत की खबर से बेखबर है क्योंकि शहीद की मां को हार्ट की प्रोब्लम है. शहीद मेजर विभूति ढोंडियाल तीन बहनों की इकलौते भाई थे। तीनों बहन उनसे बड़ी हैं, ओर बीते साल अप्रैल में ही उनकी शादी हुई थी मेजर ढौंडियाल पौड़ी जिले के बैजरो ढौंड गांव के मूल निवासी हैं।

पुलवामा में हमारे वीर जवानों ने 2 आतंकियों को मौत के घाट उतारा-सीएम

वहीं, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट कर कहा पुलवामा में हमारे वीर जवानों ने 2 आतंकियों को मौत के घाट उतारा है, लेकिन दुःखद कि इस मुठभेड़ के दौरान मेजर विभूति ढौंडियाल समेत 4 जवान शहीद हुए हैं। शहीदों को कोटि कोटि नमन करते हुए शोक संतप्त परिवारों के साथ मेरी संवेदना हैं और दुःख की इस घड़ी में हम उनके साथ हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top