हरिद्वार : रुड़की में जहरीली शराब बनाने वालों के खिलाफ सहारनपुर और हरिद्वार पुलिस का अभियान जारी है। आरोपियों के खिलाफ दोनों प्रदेशों की पुलिस लगातार ताबड़तोड़ छापेमारी करने में जुटी है। वहीं पुलिस ने ज़हरीली शराब में आईपीए नाम के जहरीले कैमिकल के तीन ड्रम के साथ मुख्य आरोपी अर्जुन को गिरफ्तार किया है। पुलिस अब इस कैमिकल के नमूने को एफएसएल  लैब में जांच के लिए भेजने की तैयारी में है।

दोनों प्रदेशों में 9 से अधिक लोगों की गिरफ्तारियां

आपको बता दें अभी तक दोनों प्रदेशों में 9 से अधिक लोगों की गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। सहारनपुर पुलिस के द्वारा पकड़े गए लाडी और टिंकू ने ही शराब में कैमिकल और पानी मिलाया था। पुलिस फिलहाल अर्जुन को जीएसटी नंबर देने वाले रुड़की निवासी मनोज की तलाश के साथ साथ कैमिकल लाइसेंस देने वाले विभाग के बारे में भी जानकारी जुटा रही है. इतना ही नहीं देहरादून के ड्रग इंस्पेक्टर से भी पुलिस पूछताछ करने में जुटी है। ड्रग इंस्पेक्टर को आखिरकार क्षेत्र में बन रहे कैमिकल की भनक क्यों नहीं लगी ये भी एक बड़ा सवाल है।

पुलिस को इनकी तलाश

पुलिस पकड़ में आए अर्जुन ने देवबंद निवासी सुभाष मास्टर से कैमिकल बनाने की ट्रेनिंग हासिल की थी। पुलिस को अब सुभाष मास्टर, सुशील चौधरी,इलम, फ़िरोज़ और मनोज की सरगर्मी से तलाश है। गौरतलब है कि रुड़की के तीन गांव में जहरीली शराब से 35 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी थी।जिसके बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है पुलिस प्रशासन भी अब आरोपियों को पकड़ने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ना चाहता।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top