पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने भारत में क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया (सीसीआई) द्वारा पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान के पोस्टर हटाए जाने पर बेहद निराशा जाहिर की है. जैश-ए-मोहम्मद द्वारा गुरुवार को किए गए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने के बाद सीसीआई ने शनिवार को और पंजाब क्रिकेट संघ ने मोहाली में रविवार को इमरान खान और अन्य पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ियों के पोस्टर हटा दिए थे.

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद मुंबई स्थित सीसीआई के अलावा भारत में कई स्थानों पर पाकिस्तानी खिलाड़ियों के पोस्टर हटा लिए हैं तो वहीं आईएमजी-रिलायंस ने पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) 2019 के प्रोडक्शन और प्रसारण का करार भी रद्द कर दिया है.

पीसीबी के निदेशक वसीम खान ने एक बयान में कहा है कि क्रिकेट ने हमेशा लोगों और देशों को एक साथ लाने का काम किया है.

उन्होंने कहा, “दुर्भाग्यवश, पाकिस्तान सुपर लीग की डिजिटल कवरेज को ब्लॉक कर देना साथ ही पाकिस्तान के पूर्व कप्तान तथा मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ-साथ पाकिस्तान के अन्य दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ियों के पोस्टर ऐतिहासिक क्लबों और स्थानों से हटा देना बेहद निराशाजनक कदम है.”

वसीम ने एक बयान में कहा, “पीसीबी ने मौजूदा स्थितियों को देखा है और वह इन सभी मामलों पर अपनी निराशा जाहिर करना चाहती है क्योंकि हमारा मानना है और हमने हमेशा इस बात पर जोर दिया है कि क्रिकेट और राजनीति को अलग-अलग रखना चाहिए. इतिहास हमें बताता है कि खेल खासकर क्रिकेट ने हमेशा लोगों और देशों के बीच पुल का काम किया है.”

वह हालांकि इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि पीसीबी सोमवार तक पीसीएल को लेकर नया साझेदार ढ़ूंढ लेगा. उन्होंने हालांकि इस बात पर निराशा जाहिर की है कि भारतीय प्रशंसक पीएसएल नहीं देख पाएंगे.

उन्होंने कहा, “हमें आईएमजी रिलायंस ने बता दिया है कि वह पीएसएल-2019 में हमारे साझेदार नहीं होंगे. पीसीबी के पास हमेशा से दूसरा विकल्प तैयार रहता है. हम इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि सोमवार तक हम नए साझेदार का ऐलान कर देंगे.”

वसीम ने कहा कि पीसीबी इस मसले को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट की वैश्विक संस्था अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की अगले महीने दुबई में होने वाली बैठक में उठाएगी.

उन्होंने कहा, “पीसीबी इस मामले को बीसीसीआई और अगले महीने दुबई में होने वाली आईसीसी समिति की बैठक में उठाएगी.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top