दिनेशपुर : उधमसिंह नगर जिले के दिनेशपुर के वार्ड नंबर 1 में उस समय अफरा तफरी मच गयी जब एक 22 वर्षीय के युवक की अवैध कच्ची शराब पीने से मौत हो गई, जब इसकी खबर लोगों को लगी तो हड़कंप मच गया.

गौर हो कि हाल ही में हरिद्वार जिले में कई गांवों के व्यक्तियों(34) और सहारनपुर(92) में कई लोगों की मौत जहरीली कच्ची शराब पीने से हुई थी. इस घटना से पुलिस प्रशासन, जिला प्रशासन और सरकार तक हिल गई थी…और लोग बस एक ही सवाल कर रहे थे कि इतनी मौतों का जिम्मेदार कौन है. सदन में भी ये मुद्दा उठा..विपक्ष ने जहरीली शराब के मुद्दे को लेकर बजट सत्र के दौरान जमकर हंगामा किया. वहीं घटना के 6  दिन बाद सरकार के मंत्री मृतकों के परिजनों से मिलने पहुंचे.

22 साल के युवक की मौत

वहीं नया मामला उधमसिंह नगर के दिनेशपुर से सामने आया. जहां 22 वर्षीय काली पद मंडल कल शाम अपने ही मोहल्ले में किसी के यहां मकान का लेंटर डालने गया हुआ था. वही लेंटर डालने के बाद खुशी के माहौल में मकान मालिक द्वारा दावत दी गयी…जिसमें कच्ची शराब परोसी गयी थी. रात को 7 लोगों ने दावत के साथ कच्ची शराब पी. जिसमें मृतक काली पद मंडल की हालत बिगड़ गई और वह बेहोश होकर गिर पड़ा. जिसे तुरंत आनन फानन में दिनेशपुर स्थित एक निजी चिकित्सालय में ले जाया गया. जहां युवक की हालत गंभीर होता देख निजी चिकित्सक ने रुद्रपुर चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया…लेकिन युवक ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

कच्ची शराब बनाने वाले के साथ खरीदने वाला भी अपराध का भागीदार

बड़ा सवाल है कि आखिर कब कच्ची शराब बनाने के अवैध कारोबार में रोक लगेगी. और सवाल उन लोगों से भी है जो की सच्चाई जानते हुए भी ऐसी चीजों का सेवन कर रहे हैं और दूसरों को ऐसी जहरीली चीजों की दावत दे रहे हैं. जितने गुनाहगार कच्ची शराब बनाने वाले हैं उतने ही गुनाहगार उसे खरीदने और पिलाने वाले भी है. इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी लोगों की आंखें नहीं खुली और अपनी मौत को खुद घर लेकर आ रहे हैं साथ ही दूसरे को भी मौत के मूंहमें धकेल रहे हैं. बड़ा सवाल पुलिस प्रशासन पर भी है कि आखिर अभी तक ऐसी जगहों का और आरोपियों का पता क्यों नहीं लगा पाई जो जहर तैयार कर रहे हैं.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top