मोदी सरकार ने अपना आखिरी और अंतरित बजट पेश करते हुए जहां किसानों को राहत दी तो वहीं आम जनता के लिए पिटारा खोलते हुए खुशखबरी दी. जिसकी उम्मीद बहुत ही लंबे समय से की जा रही था. जी हां मोदी सरकार ने अपने आखिरी बजट में सैलरीड क्लास, पेंशनर्स, वरिष्ठ नागरिकों और छोटे व्यापारियों को बड़ा तोहफा दिया है। जिसमे 5 लाख वर्षिक आय तक के लोगों को टैक्स नहीं देना होगा. वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बजट में इसकी घोषणा कर दी.

आज के अंतरिम बजट में गोयल ने टैक्स फ्री इनकम की सीमा बढ़ाकर दोगुनी कर दी। इसके साथ ही अब 2.5 लाख रुपये की जगह 5 लाख रुपये की आय पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। गोयल ने कहा कि इस टैक्स छूट का लाभ 3 करोड़ मध्यवर्गीय करदाताओं को मिलेगा। इसके साथ ही अगर आप कोई निवेश करते हैं तो साढ़े छह लाख रुपये तक कोई टैक्स नहीं लगेगा।

अहम बिंदू…

बजट में किए गए ये बड़े ऐलान

– टैक्स देने वालों की संख्या 80 फीसदी बढ़ी और टैक्स कलेक्शन बढ़कर 12 लाख करोड़ हुआ

– वन रैंक वन पेंशन के तहत 35 हजार करोड़ दिए

– 3 लाख करोड़ के पार किया रक्षा बजट

– अगले 5 साल में हम एक लाख डिजिटल विलेज बनाएंगे

– सभी किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे

– उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ गैस कनेक्शन बांटने का लक्ष्य

– 60 साल की आयु के बाद श्रामिकों को मिलेगी 3000 रुपये प्रति माह पेंशन

– 15 हजार कमाने वालों को मिलेगी पेंशन। हर महीने सिर्फ 100 रुपये की राशि जमा करनी होगी

– श्रमिक की मौत पर अब 2.5 लाख रुपये की बजाय 6 लाख रुपये मुआवजा भी दिया जाएगा

– गो वंश को लेकर बजट में बड़ा ऐलान किया है। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने सदन में बजट पेश करते हुए बताया कि सरकार राष्ट्रीय कामधेनु योजना शुरू करेगी और गो माता के लिए सरकार पीछे नहीं हटेगी

– इसके अलावा सरकार ने पशुपालन और मत्स्य पालन के लिए कर्ज में 2 फीसदी ब्याज छूट की घोषणा भी की है

– श्रमिकों का बोनस बढ़ाकर 7 हजार रुपये, 21 हजार रुपये तक के वेतन वालों को मिलेगा बोनस

– पीएम किसान योजना की घोषणा: इसके तहत छोटे किसानों के (2 हेक्टयर तक मालिकाना हक रखने वाले) खाते में हर साल 6 हजार रुपये देने का फैसला किया गया है





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top