खटीमा : पुलवामा आतंकी हमले में देश के 42 जवान शहीद हो गए…जिसमें उत्तराखंड के बी दो जवान शामिल थे. हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ में एएसआइ मोहनलाल रतूड़ी और खटीमा के वीरेंद्र सिंह राणा ने भी अपनी शहादत दी. वहीं आज शानिवार को शहीद मोहनलाल का पार्थिव शव दून लाया गया…साथ ही खटीमा निवासी शहीद वीरेंद्र सिंह का पार्थिव शरीर भी उनके गांव लाया गया. इस दौरान उनके घर में अंतिम दर्शन को जनसैलाब उमड़ पड़ा। बीवी-बच्चों और परिवारजनों का रोरोकर बुरा हाल है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने दी परिजनों को सांत्वना

वहीं इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट खटीमा निवासी शहीद वीरेंद्र सिंह राणा के आवास में उनके परिवार को सांत्वना देने पहुंचेे. शहीद का बूढ़ा पिता बिलख-बिलखकर रो पड़ा. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने उन्हें सात्वना दी और पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी. ये तस्वीरें काफी भावुक कर देने वाली हैं. एक बूढ़ा पिता जिसने अपने बेटे को पाल पोषकर इस लायक बनाया की भारी बंदूक लेकर सीमा पर देश की रक्षा करें लेकिन क्या मालूम था की एक दिन उसके शरीर के अंतिम दर्शन भी मुश्किल होंगे.

शुक्रवार को भी पहुंचे थे शहीद से गावं परिजनों से मिलने

आपको बता दें बीते दिन यानि शुक्रवार को भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट शहीद वीरेंद्र सिंह राणा के परिजनों से मिलने पहुंचे थे और आज सुबह फिर अंतिम दर्शन औऱ श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए शहीद के गांव पहुंचे.

हमारे सशस्त्र बल आतंकी गुटों को सबक सिखाने में पूरी तरह समर्थ- अजय भट्ट

प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने शहीद के परिजनों को ढांढस बंधाते हुए कहा कि इस दुख की घड़ी में भारतीय जनता पार्टी का परिवार पूरे शहीद के परिजनों के साथ खड़ा है. साथ ही अजय भट्ट ने आश्वासन भी दिया और प्रदेश अध्यक्ष जी ने कहा कि देश के वीर शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पड़ोसी मुल्क द्वारा इस प्रकार के नापाक आतंकी हरकतों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और हमारे सशस्त्र बल आतंकी गुटों को सबक सिखाने में पूरी तरह समर्थ है

इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के साथ केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा, क्षेत्रीय विधायक पुष्कर सिंह धामी, कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, मंत्री गजराज बिष्ट भी मौजूद रहे.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top