काशीपुर के राजकीय चिकित्सालय में उस वक्त माहौल गर्मा गया जब डीएम के निर्देश पर काशीपुर के संयुक्त मजिस्ट्रेट हिमांशु खुराना निरीक्षण करने राजकीय चिकित्सालय पहुंचे और ड्रेसिंग के उपकरणों के बाबत पूछने के दौरान डॉक्टर और उप जिलाधिकारी में गरमा गरमी हो गई। इसके बाद डॉक्टर्स ने उपजिलाधिकारी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और ओपीडी और इमरजेन्सी बन्द कर दी। इसके बाद काफी देर तक हंगामा होता रहा औऱ एसडीएम को वहां से भागना पड़ा.

एसडीएम ने डॉक्टर को कहा चोर

दरअसल देर रात जिलाधिकारी डॉ नीरज खैरवाल में अचानक काशीपुर जसपुर और बाजपुर के राजकीय चिकित्सालय का निरीक्षण किया. जिसके बाद जिलाधिकारी ने एसडीएम को काशीपुर चिकित्सालय का निरीक्षण करने के निर्देश दिए. जिसके बाद एसडीएम हिमांशु खुराना काशीपुर के राजकीय चिकित्सालय में पहुंचे। राजकीय चिकित्सालय में पहुंचे एडसीएम ने किसी चीज की कमी के चलते आर्थोपेडिक डॉक्टर विकास गहलोत को चोर कह दिया. बस फिर क्या था डॉक्टर ने एसडीएम के खिलाफ मोर्चा खोल दिया और फिर वहां से भागना पड़ा.

डॉक्टर विकास गहलोत का बयान

डॉक्टर विकास गहलोत के मुताबिक एसडीएम हिमांशु खुराना जब निरीक्षण के दौरान हॉस्पिटल में थे तो ड्रेसिंग के उपकरणों की कमी को लेकर एसडीएम हिमांशु खुराना ने उनको चोर कह डाला. जिसके बाद यह पूरा बवाल खड़ा हो गया जब इस बाबत एसडीएम हिमांशु खुराना से बात की गई तो उन्होंने इसे छोटा सा मामला करार देते हुए कहा कि इस मामले को निपटा लिया गया है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top