शौचालय की प्रोत्साहन राशि लेकर न बनवाने वालों के लिए बुरी खबर है. पंचायत विभाग ने ऐसे लोगों की सूची बनाकर थाने को दी है, जहां उन्हें तलब कर कारण पूछा जाएगा, वाजिब कारण न होने पर रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी.

ऐसे लाभार्थी जो शौचालय की प्रोत्साहन राशि ले लिए हैं कई महीने बीतने के बाद भी निर्माण नहीं किया है या निर्माण अधूरा है उन पर पंचायत विभाग सख्ती करने जा रहा है. विभिन्न ग्राम पंचायतों की ऐसी सूची बनाकर थाने भेजने की तैयारी है, जिन्होंने कई महीने पहले प्रोत्साहन राशि तो ले ली, लेकिन निर्माण को लेकर टालमटोल करते रहे.

पंचायत विभाग अपने कर्मियों के माध्यम से निर्माण शीघ्र करने, न करने पर रिकवरी करने की उन्हें नोटिस भी दे चुका है. लेकिन ऐसे लोगों पर इसका कोई असर नहीं हुआ. विभाग निर्णायक कार्रवाई के लिए कमर कस चुका है.


वजीरगंज में कुल 62 ग्राम पंचायतें हैं. पहले चरण में जिन ग्रामपंचायतों की सूची बना कर भेजी गई है. उनमें अनुभुला के 25, चंदापुर 32, नयपुर 15, बेइलिया 9, अचलपुर 8, ढोढ़ीयापारा 3, कोइली जंगल व महादेवा 2, 2 आदि हैं जबकि अन्य गांवों की सूची शीघ्र बना कर थाने भेजने की तैयारी है. एडीओ पंचायत घनश्याम पांडेय ने बताया कि प्रोत्साहन राशि लेकर अन्य मद में खर्च कर लेना वित्तीय अनियमितता है. मजबूरन कानूनी कार्रवाई करनी पड़ रही है.

उच्चाधिकारियों के निर्देशानुसार जिन्होंने प्रोत्साहन राशि लेने के बाद शौचालय नही बनाया है उनमें से कुछ गांवों की सूची थाने पर भेजकर करवाई करने की अपेक्षा की गई है. शीघ्र ही अन्य गांवों की सूची थाने को सौंप दी जाएगी.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top