शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने पूर्व मंत्री आजमखां और उत्तर प्रदेश सेंट्रल शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी और आजमखान पर आरोप लगाते हुए कहा उन्होंने करोड़ों रुपए की बेईमानी की है. वसीम रिजवी पर सीबीआई की जांच हो. यहां उन्होंने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में आजम खान और वसीम रिजवी पर करारे हमले किए.

उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आजमखान और वसीम रिजवी उन लोगों में से हैं जो हर तरह की रिश्वत दे सकते हैं. ये पैसों की रिश्वत भी देते हैं और जिसका जैसा शौक हो, उसे उस तरह की रिश्वत देते हैं. साथ ही आजम खान और वसीम रिजवी को आरएसएस की सरपरस्ती मिली है. आरएसएस के कुछ नुमाइंदे आजमखान का साथ दे रहे है. उन्होंने आरोप लगाए कि अरबों रुपए की यूनीवर्सिटी बना ली है. उसकी कोई जांच नहीं हो रही है. अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो रही है.

आरएसएस के लोग उनके साथ हैं जिसके कारण कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. नहीं तो अब तक उनका तिया पांचा हो गया होता. उन्होंने कहा कि हमें शिकायत आरएसएस से हैं जो इतना धर्मवादी होने का दम भरती है और चोरों, नटवरलालों की सरपस्ती कर रहे हैं. शिया सुन्नी वोट वसीम रिजवी की वजह से कटेंगे और हिन्दू वोट कटेगा आजमखान पर कार्रवाई नहीं करने की वजह से कटेंगे.

कल्बे जव्वाद ने कहा कि यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार अच्छा काम कर रही है. माब लिचिंग की घटनाएं कम हुई है. दंगे फसाद कम हुए हैं. यूपी में घटनाएं कम हुई हैं. वहीं भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार में काफी कमी आई है. वक्फ संपति को बचाने के लिए उन्होंने कहा कि सीबीआई की जांच होनी चाहिए. आज वक्फ बोर्ड सही हाथों में नहीं है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top