मंगलवार को सचिवालय में मुख्य सचिव उत्पल कुमार की अध्यक्षता में राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत उत्तराखण्ड राज्य एड्स नियंत्रण समिति की गवर्निंग बाॅडी की बैठक सम्पन्न हुई. बैठक के दौरान समिति द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों एवं भौतिक प्रगति की विस्तृत जानकारी दी गयी.

मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों का ईलाज चल रहा है, उन्हें ड्राॅप आउट न होने दिया जाए. मुख्य सचिव ने कहा कि एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों को लगातार परामर्श देते हुए ईलाज जारी रखा जाए. उन्होंने कहा कि जिन संक्रमित लोगों ने ट्रीटमेंट छोड़ दिया है,

उन्हें वापस ट्रीटमेंट में शामिल करने के प्रयास किए जाएं. मुख्य सचिव ने कहा कि ड्रग्स रिहेबिलिटेशन सेंटर्स में भी एचआईवी संक्रमण के लिए स्कैनिंग करायी जाए, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान कर उसका ईलाज किया जा सके. मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने कहा कि आंगनवाड़ी वर्कर्स व ए.एन.एम को भी एच.आई.वी. संक्रमण से बचाव व ईलाज के प्रति जागरूकता कार्यक्रम के लिए शामिल किया जा सकता है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top