मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्यप्रदेश के में धार कहा कि भारत की वायुसेना ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की है, मगर भारत में बैठे कुछ लोगों को सदमा लगा है। उनका इशारा विपक्ष की तरफ था. उन्होंने विपक्ष पर पाकिस्तान से मिलकर ‘महामिलावट’ (सांठगांठ) करने का आरोप लगाया.

विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “कांग्रेस के नरम रवैए के चलते ही पहले आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब नहीं मिल पाया और ये अब सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल कर रहे हैं. जब इनकी सरकार थी, तब आतंकी हमले के बाद ये चुप बैठ जाते थे या वीर जवानों की कार्रवाई पर आंसू बहाते थे. आज कांग्रेस का वही चेहरा एक बार फिर सामने आया है.”

मोदी ने कहा, “एयर स्ट्राइक पाकिस्तान में हुई, मगर सदमा भारत में बैठे कुछ लोगों को लगा है. विपक्ष के लोग पिछले एक सप्ताह से ऐसे मुंह लटकाए हुए हैं, मानो जैसे दुखों का पहाड़ टूट पड़ा हो.”

प्रधानमंत्री ने विपक्षी दलों के महागठबंधन पर प्रहार करते हुए कहा, “देश में महामिलावट करने वाले ये लोग अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर महामिलावट करने में लगे हैं. सिर्फ अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए पाकिस्तान से मिलकर महामिलावट कर रहे हैं. ये लोग यहां मोदी को गालियां देते हैं और पाकिस्तान में इनके लिए तालियां बजती हैं. वहां के अखबारों और चैनल की हेडलाइन बनते हैं. एक प्रकार से ये महामिलावटी लोग पाकिस्तान के पोस्टर ब्वॉय बन गए हैं.”

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह द्वारा पुलवामा में सुरक्षा बलों पर हुए हमले को दुर्घटना बताए जाने पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा, “कांग्रेस के नेता हमारे जवानों के पराक्रम और साहस पर सवाल उठा रहे हैं. इस मामले में मध्य प्रदेश के एक नेता ज्यादा ही आगे नजर आते हैं. उन्होंने आज सुबह ही पुलवामा हमले को दुर्घटना करार दिया है. इस बयान से देशवासी समझ लें कि यह उनकी मानसिकता है, जो रगों में पड़ा हुआ है. आतंकियों को बचाने के लिए, उनका पक्ष लेने के लिए, उनके लिए किए गए हमले को हादसा बता रहे हैं.”

प्रधानमंत्री अपने तय कार्यक्रम के अनुसार, अहमदाबाद से विशेष विमान से इंदौर हवाईअड्डे पर पहुंचे और वहां से हेलीकॉप्टर द्वारा धार आए. धार हेलीपैड पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराजसिह चौहान, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव सहित अन्य नेताओं ने उनकी अगवानी की. जनसभा को भाजपा के अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top