बीते शनिवार को सांसद और दिल्ली के भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी युवा विजय संकल्प बाइक रैली में आर्मी ड्रेस जैसे कलर और डिजाइन वाली टी-शर्ट पहने दिखाई दिए थे. इस बात को लेकर सोशल मीडिया में लोगों ने सवाल खड़े किए हैं. लोगों का कहना था कि आर्मी की वर्दी कोई आम ड्रेस नहीं है. इसे मेहनत और जज्बे से कमाना पड़ता है. ऐसी प्रतिक्रियाओं पर जवाब देते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि जो लोग ऐसा सोच रहे हैं कि मैंने राजनीति करने या टशन दिखाने के लिए आर्मी की ड्रेस वाली टी-शर्ट पहनी थी, उन्हें मेरे बारे में कुछ नहीं पता.

तिवारी ने बताया कि उनके पास ऐसी 5-6 टी-शर्ट और शर्ट हैं. उनका कहना था कि एनसीसी देश में चौथी सेना की तरह काम करती है. इस नाते उनका इस तरह की शर्ट पहनने का थोड़ा अधिकार तो बनता ही है. मनोज तिवारी ने बताया कि आर्मी के प्रति उनके मन में बहुत सम्मान है. वह भी आर्मी में जाने की इच्छा रखते थे. उन्होंने एनसीसी भी ज्वाइन की थी. वह एनसीसी सी-सर्टिफिकेट होल्डर हैं.

उन्होंने कई बार टेस्ट दिए और दौड़ लगाई लेकिन उनका चयन नहीं हुआ. हालांकि इन सबके बावजूद भी उनके जज्बे में कमी नहीं आई है. इसलिए वह अकसर ऐसी टी-शर्ट या शर्ट पहनते रहते हैं. तिवारी ने आगे कहा कि पाकिस्तान के कब्जे से छुड़ाकर लाए गए वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन का अभिनंदन करने और उनके प्रति अपनी भावनाएं व्यक्त करने के मकसद से भी उन्होंने वह टी-शर्ट पहनी थी और इसमें कोई गलत बात नहीं है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top