वर्तमान भारत -पाक युद्ध सन 2019 पर रणभूमि समीक्षा

E gairsain

अगर पाकिस्तान की कंगाली उसको भीख मांगने को मजबूर नहीं करती तो ,पाकिस्तान कभी भी रणभूमि में उसके हाथ में आये भारतीय पायलट को नहीं छोड़ता । पाकिस्तान का रिकॉर्ड है, उसने अंतर्राष्ट्रीय नियमो अथवा अंतराष्ट्रीय संघ के नियमो का कभी भी पालन नहीं किया। अंतराष्ट्रीय नियमो को ताक में रख कर दुनिया भर में आतंक फैलाता रहा। इसके भी स्पष्ट प्रमाण विश्व समुदाय के पास है पाकिस्तान ने आईएसआईएस जैसी अंतराष्ट्रीय आतंकवादी एजेंसियों का साथ भी परदे के पीछे दिया। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं वह जनेवा कन्वेंशन को कितना मानता होगा। कारगिल का संघर्ष और भारतीय पायलटों के साथ उसका ब्यवहार दुनिया ने देखा है।
आज पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने संसद में घोषणा की है कि भारतीय पायलट अभिनंदन को शुक्रवार को रिहा कर दिया जाएगा. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद के एक संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय वायुसेना के पकड़े गए पायलट अभिनंदन को शांति का परिचय देते हुए शुक्रवार को रिहा किया जाएगा. उनकी इस घोषणा की पाकिस्तानी सांसदों ने मेज थपथपा कर सराहना की. भारत और पाकिस्तान की वायु सेनाओं के बीच भीषण संघर्ष के बाद पाकिस्तान ने भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन को उस समय हिरासत में ले लिया था जब उनका मिग 21 लड़ाकू विमान गिर गया था. इससे पूर्व पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक नाटकीय ढंग से आज कहा था कि यदि भारतीय वायुसेना के पायलट की वापसी से भारत के साथ तनाव ‘‘कम’’ होता है तो पाकिस्तान इस पर विचार करने को तैयार है. कुरैशी ने कहा, ‘यदि भारतीय पायलट की वापसी से तनाव कम होता है तो पाकिस्तान इस पर विचार करने को तैयार है.’ “पाकिस्तान अपनी पतली हालत को देखते हुए ,पहले दिन से ही शांति की बात कर रहा है. अगर भारत आतंकवाद पर बात करना चाहता है तो हम तैयार हैं.”
सब मिला कर पाकिस्तान अपनी पतली हालत को पहचान रहा है और आने वाले समय में पाकिस्तान को आतंकवाद की बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। भारत में पाकिस्तान के हमदर्दों को भी यह भारत -पाक युद्ध सन 2019 बहुत भारी पड़ने वाला है।
द्वारा -मदन मोहन ढौंडियाल (eGairsain पब्लिक ग्रुप )





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top