शुक्रवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी के लोकभवन से ‘मुख्यमंत्री जन आरोग्य’ अभियान का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने संबंधित लाभार्थियों के बीच गोल्डन कार्ड एवं आरोग्य कार्ड वितरण किया. इस दौरान उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और रीता बहुगुणा जोशी भी मौजूद रहीं.

इस मौके पर उन्होंने कहा, “टेलीमेडिसिन के द्वारा अब हम दूर-दराज तक अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं दे सकते है. कई जिले विकास की धारा से अलग थे, उनका विकास हो इसके लिए काम शुरू हुआ. हमारे सामने समस्या ये आती थी कि उन जनपदों में कोई चिकित्सक जाना नहीं चाहता था. इसलिए तकनीकी के द्वारा हमने बड़ा काम शुरू किया.”

मुख्यमंत्री ने कहा, “आवश्यक नहीं की मरीज डॉक्टर के पास जाए, हमारी कोशिश है डॉक्टर को मरीज के करीब ले जाए.” योगी ने कहा, “दवाओं में खरीद में पहले बड़े-बड़े खेल होते थे लेकिन हमने उस पर भी रोक लगा दी है. पहले जिला अस्पतालों का बुरा हाल था लेकिन अब उनमें भी सुधार किए गए हैं.”

उन्होंने कहा कि 1947- 2014 तक केवल 13 राजकीय मेडिकल कालेज थे और हम 15 मेडिकल कालेज बना रहे हैं. योगी ने कहा, “संसाधनों की कमी नहीं है आशा, आंगनबाड़ी कर्मियों ने टीकाकरण अभियान को निचले स्तर तक ले जाने का काम किया है.”

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, “आज गोरखपुर, हमीरपुर, मिजार्पुर और बहराइच में कुल 15 टेलीमेडिसिन केंद्रों का शुभारंभ हुआ.”





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top