भारत और पाकिस्तान के बीच जबरदस्त तनाव के बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संयुक्त अरब अमीरात में इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) में विदेश मंत्रियों की बैठक शुरू हो गई है. सुषमा स्वराज अबू धाबी में बैठक के उद्घाटन सत्र को सम्मानित अतिथि के रूप में संबोधित कर रही हैं.

अधिकारियों ने इस बैठक में भारत को आमंत्रित किए जाने को अरब और मुस्लिम-बहुल देशों के साथ संबंधों को मजबूत करने के प्रयासों में विदेश नीति की महत्वपूर्ण सफलता बताया है. यह पहली बार है जब भारत को सम्मानित अतिथि के रूप में ओआईसी बैठक में आमंत्रित किया गया है. इस्लामी सहयोग संगठन 56 देशों का प्रभावशाली समूह है.

सुषमा स्वराज ने अपने भाषण में अरब देशों के साथ भारत के रिश्तों का जिक्र किया.

  • मानवता के मूल्यों के साथ हम साथ मिलकर काम करते हैं. भारत की इकॉनमी बढ़ रही है, उससे देशों के साथ संबंध गहरा हो रहा है. डिजिटल पार्टनरशिप भविष्य को तय कर रही है.

-भारत के पूर्वी ब्रूनेई, इंडोनेशिया, मलयेशिया भारत की ऐक्ट ईस्ट पॉलिटी के महत्वपूर्ण स्तंभ हैं.

-सुषमा ने अपने संबोधन मे पड़ोसी देशों बांग्लादेश, अफगानिस्तान, मालदीव के साथ घनिष्ठ संबंधों का जिक्र किया.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top