29 जुलाई को जारी करेगा राष्ट्रीय बाघ प्राधिकरण अपनी  रिपोर्ट

देवभूमि मीडिया ब्यूरो 

देहरादून : राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) को कॉर्बेट नेशनल पार्क में तमाम अवैध शिकार की बाद भी बाघों की संख्या 250 के पार होने की उम्मीद है। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) 29 जुलाई को भारत के बाघों की गणना की रिपोर्ट जारी करेगी। उत्तराखंड में भी एनटीसीए की ओर से बाघों की गणना की गई थी। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) को अभी भी उम्मीद है कि बाघों की संख्या में इस बार भारी बढ़ोत्तरी होगी।

गौरतलब हो कि एनटीसीए ने 2018 में अक्तूबर से दिसंबर तक कॉर्बेट नेशनल पार्क में कैमरा ट्रैप की मदद से बाघों की गणना की थी। कैमरा ट्रैप के माध्यम से 2006 से बाघों की गणना शुरू की गई थी। जो हर साल के अंतराल में होती रहती है। एनटीसीए ने 2006, 2010 और 2014 में बाघों की गणना की थी। 

इस गणना के बाद अब एनटीसीए 2018 में हुई बाघों की रिपोर्ट जारी करेगी। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए)  ने 2014 में कॉर्बेट नेशनल पार्क में 215 बाघ रिकॉर्ड किए गए थे। इस बार बाघों की संख्या 250 से पार होने की संभावना जताई जा रही है। कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व (सीटीआर) निदेशक राहुल ने बताया कि 29 जुलाई को देशभर के बाघों की गणना रिपोर्ट राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए)  दिल्ली में जारी करेगा।



0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top