कर्नाटक में 17 विधायकों के इस्तीफे के बाद एचडी कुमारस्वामी सरकार पर छाया संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा है. मंगलवार को राज्य में पूरे दिन चली उठा-पटक के बाद भी कोई ठोस निर्णय नहीं निकल पाया.

कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायकों ने लोकसभा स्पीकर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दी है. कनार्टक के बागी विधायकों की अर्जी पर कल सुनवाई संभव है. इस्तीफा स्वीकार न किए जाने से नाराज हैं बागी विधायक. आपको बता दें कि स्पीकर ने 13 में से आठ विधायकों के इस्तीफे स्वीकार नहीं किए हैं. वहीं, कर्नाटक सरकार में मंत्री डीके शिवकुमार बागी विधायकों से बात करने मुंबई के रेनिसन्स होटल पहुंचे हैं. लेकिन मुंबई पुलिस ने उनको होटल के बाहर ही रोक लिया है. मुंबई पुलिस ने उनको होटल के अंदर प्रवेश नहीं करने दे रही है.

डीके शिवकुमार ने पुलिस से उन्हें होटल के भीतर जाने का अनुरोध किया. कांग्रेस नेता ने कहा ‘मैंने यहां एक कमरा बुक किया है. मेरे दोस्त यहां रह रहे हैं. यह एक छोटी सी समस्या रही है, हमें बातचीत करनी है. धमकी देने का कोई सवाल नहीं है, हम एक दूसरे से प्यार करते हैं और सम्मान करते हैं. उन्होंने कहा कि हम लोग साथ ही राजनीति में जन्मे हैं और साथ ही मरेंगे. वे हमारी पार्टी के लोग हैं. इस बीच बागी विधायक नारायण गौड़ा के समर्थकों ने शिवकुमार गो बैक नारे लगाए.

मुंबई के रेनिसंस होटल में ठहरे कर्नाटक कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) के 10 बागी विधायकों ने मुंबई पुलिस को अपनी जान का खतरा बताते हुए चिट्ठी लिखी है. मंगलवार देर रात मुंबई पुलिस कमिश्नर को लिखी चिट्ठी में इन बागी विधायकों ने बताया कि उनकी जान को खतरा है और वह कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार नहीं मिलना चाहते हैं.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top