बुधवार को भारतीय तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया, जबकि कंपनियों ने एक दिन पहले दोनों वाहन ईंधनों के दाम में कटौती कर उपभोक्ताओं को राहत दिलाई थी. उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में फिर कच्चे तेल में तेजी लौटी है, जिससे आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल के दाम में राहत की संभावना पर विराम लग सकती है. बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड का भाव फिर 65 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गया है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में बुधवार को एक फीसदी से ज्यादा का उछाल आया.

पिछले सप्ताह शुक्रवार को पेश आम बजट 2019-20 में केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद कर और उपकर में एक-एक रुपये की वृद्धि की घोषणा किए जाने के अगले ही दिन पूरे देश में दोनों वाहन ईंधनों के दाम में तकरीबन ढाई रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हो गई.

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में बुधवार को पेट्रोल के दाम पूर्ववत क्रमश: 72.90 रुपये, 75.12 रुपये, 78.52 रुपये और 75.70 रुपये प्रति लीटर बने रहे वहीं, चारों महानगरों में डीजल के दाम पूर्ववत क्रमश: 66.49 रुपये, 68.48 रुपये और 69.69 रुपये और 70.23 रुपये प्रति लीटर बने रहे.

एक दिन पहले सोमवार को तेल विपणन कंपनियों ने डीजल के दाम दिल्ली में 10 पैसे, कोलकाता में छह पैसे, जबकि मुंबई और चेन्नई में 11 पैसे प्रति लीटर घटाए थे. वहीं, पेट्रोल के भाव दिल्ली और चेन्नई में छह पैसे जबकि कोलकाता में तीन पैसे और मुंबई में पांच पैसे प्रति लीटर घट गए थे.

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार आईसीई पर सिंतबर डिलीवरी ब्रेंट क्रूड के अनुबंध में 1.01 फीसदी की तेजी के साथ 64.81 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था जबकि इससे पहले भाव 64.96 डॉलर प्रति बैरल तक उछला.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top