पिथौरागढ़: बारिश का कहर जारी है। भू-स्खलन से केदारनाथ हाई-वे बंद हो गया है। बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री यात्रा मार्ग फिलहाल खुले हैं। वहीं, पिथौरागढ़ में मकान के ध्वस्त होने से एक ही परिवार के तीन लोग घायल हो गए। मैदानी इलाकों में जलभराव से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

कुमाऊं के अधिकांश स्थानों पर सुबह बारिश का दौर फिर शुरू हो गया था। राजधानी देहरादून, हरिद्वार के साथ ही गढ़वाल के अधिकांश क्षेत्रों में भी सुबह बारिश थमी रही, लेकिन दोपहर बारह बजे के बाद फिर से बारिश का दौर शुरू हुआ। चमोली में सुबह हुई बारिश के चलते नंदप्रयाग के निकट सड़क पर मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे करीब आधे घंटे तक अवरुद्ध रहा। बांसवाड़ा के निकट पहाड़ी दरकने से गौरीकुंड हाईवे बंद हो गया। इससे केदारनाथ जाने और वापस लौट रहे यात्रियों के वाहनों की दोनों ओर लंबी कतारें लग गई।

पिथौरागढ़ में तहसील धारचूला के दुतीबगड़ तोक के गनागांव में मकान भारी बारिश के कारण ढह गया। घर में सो रहे गोविंद सिंह, उनकी पत्नी कमला और बेटा घायल हो गया। घटना देर रात की है। ग्रामीणों ने घायलों को छह किमी दूर जौलजीवी अस्पताल में भीर्त कराया। प्राथमिक उपचार के आद उनको सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डीडीहाट पहुंचाया गया।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top