मोदी सरकार 2 के पहले आम बजट में पेट्रोल-डीजल पर 1 प्रतिशत सेस बढ़ाने जाने का असर उत्तराखंड में आने वाले दिनों में महंगाई के रूप में देखने को मिलेगा, जिसका असर उत्तराखंड वासियों के साथ उत्तराखंड पहुंचने वाले पर्यटकों पर भी पड़ेगा।

बसों में 10 प्रतिशत महंगा होगा सफर

मोदी सरकार 2 के पहले आम बजट में पेट्रोल डीजल की किमतों के बढ़ाए जाने का असर पयर्टक प्रदेश उत्तराखंड पर पड़ने वाला है. जी हां पेट्रोल-डीजल की कीमतों के बढ़ने से पर्यटक प्रदेश उत्तराखंड में यात्रा महंगी होने वाली है. उत्तराखंड परिवहन निगम ने अपनी बसों में 10 प्रतिशत किराया बढ़ाने का प्रस्ताव एसटीए यानी स्टेट ट्रासंपोर्ट ऑथोरिटी को भेज दिया है। उत्तराखंड परिवहन निगम के साथ ही प्रदेश की कई यातायात यूनियनों संयुक्त रोटेशन समिति के तहत 5 यूनियनों ने किराया बढ़ाए जाने ही नहीं बल्कि किराया बढ़ाकर सभी रूटों पर रोड़वेज की बसों के बराबर किराया निर्धारित करने की मांग की है।

हमारा प्रयास है कि जल्दी से जल्दी किराय में बढ़ोतरी हो सके-महाप्रबंधक

उत्तराखंड परिवहन निगम के महाप्रबंधक दीपक जैन का कहना कि उन्होने एसटीए को प्रस्ताव भेज दिया है. हमारा प्रयास है कि जल्दी से जल्दी किराय में बढ़ोतरी हो सके। पेट्रोल डीजल की कीमत बढ़ने से यातायात संचालित करने वाली सभी यूनियनें किराया बढ़ाने की मांग करने लगी है. वाहन स्वामियों का तर्क है कि हाल में की केंद्र सरकार के द्धारा थर्ड पार्टी इंशोरेंस में 12 प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई है साथ ही वाहनों के स्पेयर पार्ट भी मंहगे हो गए हैं जिस वजह से किराया बढ़ाया जाना आवाश्यक है।

स्टेट ट्रासंपोर्ट ऑथोरिटी के कमिश्नर शैलेश बगोली का  बयान

वहीं स्टेट ट्रासंपोर्ट ऑथोरिटी के कमिश्नर शैलेश बगोली का कहना है कि जो भी प्रस्ताव किराया बढ़ाने को लेकर आ रहे हैं उन पर परिक्षण चल रहा है,कितना किराया बढ़ाया जाएगा परीक्षण के बाद ही इस पर एसटीए की बैठक में फैसला होगा।

उत्तराखंड में सफर होने वाला है महंगा

पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने के बाद ये तय माना जा रहा है कि उत्तराखंड में सफर महंगा होने वाला है,लेकिन स्टेट ट्रासंपोर्ट ऑथोरिटी जो प्रदेश में किराया का निर्धारण करती है वह कितना प्रतिशत किराया आने वाले दिनों में बढ़ाएगी इस पर सबकी नजरें लगी हुई है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top