जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद देश में शुरू हुआ बयानबाजी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आर्टिकल 370 को लेकर विपक्षी दलों की ओर उठाए जा रहे सवालों का जवाब देते हुए इसे अब तक का बड़ा फैसला बताया.

ये बाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अंग्रेजी समाचार पत्र को दिए इंटरव्यू के दौरान कही. इस दौरान प्रधानमंत्री ने कश्मीर के मसले को लेकर खुल कर बात की. उन्होंने कहा कि कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार की नीति बिल्कुल स्पष्ट है. आर्टिकल 370 निष्क्रिय करने का फैसला बिल्कुल सोच समझ कर लिया गया है.

इस बातचीत में पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर में निवेश के लिए देश के बड़े उद्योगपतियों से आगे आने की अपील भी की. उन्होंने कहा कि आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में विकास का रास्ता खुल सकेगा, जिससे यहां के युवाओं को रोजगार मिलेगा . इससे पहले जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 के निष्क्रिय होने के बाद उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने केंद्र सरकार के इस कदम को राष्ट्रहित में बताया है.

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले इस आर्टिकल को रद्द करना पूरी तरह से राष्ट्रहित में है. उन्होंने विपक्षी पार्टियों से अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार के इस कदम को सियासी चश्मे से नहीं, बल्कि राष्ट्रीय के नजरिए से देखा जाना चाहिए.

पीएम मोदी ने इसको देश का आंतरिक मामला बताते हुए पाकिस्तान को सीधा संदेश भी दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा यह फैसला जल्दबाजी नहीं, बल्कि काफी सोच-समझ कर लिया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार की बड़ी योजना है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top