टिहरी गढ़वाल : 15 अगस्त का दिन देश औऱ देश की बहनों के लिए खास दिन है. एक तो देश की आजादी का दिन और दूसरा रक्षाबंधन. हर भाई और बहन इस दिन का बेसब्री से इंतजार कर रहा है. लेकिन टिहरी की रहने वाली एक बहन ऐसी भी है जो भाई का डेढ़ साल से इंतजार कर रही है उसकी आवाज सुनने तक को तरस गई है.

जी हां टिहरी गढ़वाल के धौलागिरी गांव के रहने वाले भारतीय सेना के जवान धीरज जो की 9वीं गढ़वाल रायफल में हैं, डेढ़ साल से लापता हैं.. आपको बता दें कि सेना का जवान घर छुट्टी आने की बात कहकर तैनाती स्थल से निकला था लेकिन आज तक घर नहीं पहुंचा. बहन समेत भाई और माता-पिता बेटे का इंतजार कर आंसू बहा रहे हैं लेकिन उनकी मदद करने वाला कोई नहीं है और न ही उनके दर्द को कोई सुन रहा है.

बस मेरा भाई लौट आए ये उसका रक्षाबंधन का सबसे बड़ा तोहफा होगा-बहन

फौजी भाई के बहन का कहना है कि बस मेरा भाई लौट आए ये उसका रक्षाबंधन का सबसे बड़ा तोहफा होगा. परिवार वालों का रो रोकर बुरा हाल है. बहन बार बार भाई की फोटो देख रही है और रो रही है.

सीएम से भी लगाई गुहार

बता दें कि धीरज की शादी की बात चल रही थी. मां घर में बहू लाने की तैयारी में थी बस बेटे के आने का इंतजार था. परिवार का कहना है कि सीएम से भी हमने गुहार लगाई लेकिन गरीब आदमी की कौन सुनेगा.

छुट्टी लेकर निकले थे यूनिट से

आपको बता दें कि धीरज पिछले साल फौज में भर्ती हुए थे और 9वी गढ़वाल रायफल अरुणांचल औऱ असम के बीच सिलीगुड़ी में तैनात थे. 23 जून से 13 जुलाई तक छुट्टी लेकर घर के लिए निकले थे जब धीरज 13 जुलाई को यूनिट नहीं लौटे तो यूनिट ने घर में फोन किया जिससे पता चला की वो घर नहीं आया और न यूनिट लौटे…धीरज रास्ते से ही गायब हो गए. जिसके बाद परिवार को धक्का लगा. सेना ने पत्र भेजकर धीरज के गायब होने की जानकारी टिहरी और सिलीगुड़ी प्रशासन को भेजी है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top