देहरादून: सोशल मीडिया पर प्रकाश पंत को समर्पित गाना लोगों को खूब पसंद आ रहा है। साथ ही लोगों को भाउक भी कर रहा है। …दिल नहीं मानता अब आप ना रहे…, खोजती हैं निगाहें हो बैठे कहां…। भूल जाते हैं हम…, ओ नहीं लौटते.., जो चले जाते हैं छोड़कर ये जहां…। दिल नहीं मानता आप अब ना रहे…, क्यों हुआ आपसे आमना-सामना…। क्यों जुड़े मन से हम आपसे जाने ना…। दिल नहीं मानता साथ अब ना रहा…, आज भी यादें कल की तरह ही हैं जवां…। भूल जाते हैं हम…वो नहीं लौटते…, जो चले जाते हैं छोड़कर ये जहां…, दिल नहीं मानता आप अब ना रहे….।

कुमाऊंनी गायक भूपेंद्र सिंह बसेड़ा ने गाना गया है। गाने के बोल बहुत ही मीठे और सुरीले हैं। प्रकाश पंत को चाहने वाला हर शख्स उनको इस तरह याद करता है, जिस तरह से इस गाने में भूपेंद्र सिंह बसेड़ा कर रहे हैं। प्रकाश पंत के जाने से लोग काफी दुखी थे। वास्तव में उनके जैसे नेता कम ही होते हैं।

प्रकाश पंत की मौत से उनके चाहने वालों। समर्थकों और उनके साथ काम करने वाले लोगों के साथ ही राजनीति में पक्ष और विपक्ष के सारे लोग उनका समर्थन करते थे। वो ऐसा नेता थे, जिनके चाहने वाले जितने उनकी पार्टी में थी। उतने ही चाहने वाले विपक्ष में भी थे।

गाने का लिंक हhttps://www.youtube.com/watch?v=KciWAXPh8F0&feature=youtu.be





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top