मलेशिया में रह रहे विवादित इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाईक की मुसीबतें कम होने का नाम नही ले रही हैं. मलेशियाई मीडिया के अनुसार नाइक की स्थायी नागरिकता पर खतरा मंडराने लगा है. इसके लिए यह जांच की जा रही कि उसके भाषणों से देश का नुकसान हुआ है. पुलिस उसके पुराने बयानों के रिकॉर्ड जांच रही है. इसके साथ उसके कामों की भी पड़ताल हो रही है.

विवादित इस्लामिक धर्म प्रचारक जाकिर नाईक की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल, मीडिया के अनुसार मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने इस मामले में सख्ती दिखाई है. जाकिर नाइक की स्थायी नागरिकता को रद्द किया जा सकता है. इससे ये साबित होना चाहिए कि उनके कामों से देश को नुकसान पहुंच रहा है. वहीं पुलिस अब जाकिर नाईक को लेकर जांच में जुट गई है.

मलेशियाई पीएम ने कहा है कि सरकार इस मामले में कोई एक्शन लेने से पहले पुलिस जांच का इंतजार करेगी. नाईक पर मलेशियाई अल्पसंख्यकों,चीनी नागरिकों और भारतीयों को लेकर विवादास्पद और संवेदनशील बयानों के मामलों की जांच पूरी होने तक मलेशियाई सरकार इंतजार करेगी. महातिर मोहम्मद ने आगे कहा कि जाकिर नाईक को भड़काऊ भाषण देने से रोकने के लिए कदम उठाने की जरूरत है.

वहीं जाकिर नाईक के सार्वजनिक माफी मांगने को लेकर पूछे गए सवाल पर महातिर ने कहा कि इस मामले को फिलहाल पुलिस जांच पर छोड़ दिया गया है. वह इस पर निर्णय लेगी.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top