देहरादून : देश की रक्षा करते हुए उत्तराखंड, देहरादून का बेटा संदीप थापा शहीद हो गए. वो अपने पीछे अपने नन्हे बच्चे, पत्नी औऱ परिवार को पीछे छोड़ गए.बेटे की शहादत की खबर से घर में मातम पसरा है. वहीं जानकारी के अनुसार शहीद संदीप थापा का पार्थिव शरीर आज दून लाने की संभावना है जिसके बाद सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

गोरखा राइफल्स के जवान संदीप थापा राजौरी के नौसेरा सेक्टर में तैनात थे

मिली जानकारी के अनुसार गोरखा राइफल्स का जवान संदीप थापा वर्तमान में राजौरी के नौसेरा सेक्टर में तैनात था। शनिवार सुबह करीब साढ़े छह बजे के आसपास पाकिस्तान सेना ने सीज फायर का उल्लंघन करते हुए सीमा पर जबरदस्त गोलाबारी की और मोर्टार दागे। भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया और पाकिस्तान सेना की एक पोस्ट तबाह कर दी। पाक सेना की गोलाबारी से लांस नायक संदीप थापा गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल जवान को इलाज के लिए सेना के नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान वह शहीद हो गया।

घर में पसरा मातम, विधायक पहुंचे आवास पर

सरहद पर संदीप थापा की शहादत की खबर मिलने से उसके घर में मातम पसर गया। शहीद के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। सूचना मिलने पर उनके नाते रिश्तेदार भी परिजनों को सांत्वना देने के लिए शहीद के आवास पहुंचे। वहीं, सहसपुर विधायक सहदेव पुंडीर, भाजपा नेता सुखदेव सिंह फरस्वाण आदि भी शहीद के आवास पहुंचे और परिजनों का ढांढस बंधाया।

भाई भी सेना में, पिता सुबेदार रैंक से रिटायर्ड

मिली जानकारी के अनुसार संदीप थापा करीब डेढ़ दशक पहले सेना में भर्ती हुआ था। उसके दोनों छोटे भाई भी सेना में ही तैनात हैं। शहीद जवान के पिता भगवान सिंह थापा भी सेना से सुबेदार रैंक से रिटायर हुए हैं। संदीप का विवाह कुछ साल पहले ही हुआ था। उनका दो साल का एक बेटा है। शहीद की मां व पत्नी का भी रो रोकर बुरा हाल है। लास नायक संदीप थापा की शहादत की खबर मिलते ही आसपास के क्षेत्र के तमाम लोग उसके पैतृक आवास पर जुट गये।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top