अयोध्या में रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में मध्यस्थता समिति द्वारा कोई समाधान नहीं निकलने पर दिन-प्रतिदिन के आधार पर होने वाली इसकी सुनवाई मंगलवार से सुप्रीमकोर्ट में शुरू हो गई.

अयोध्या मामले के एक पक्ष निर्मोही अखाड़े ने सुप्रीम कोर्ट में मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधानिक पीठ के समक्ष अपनी दलीलें पेश करनी शुरू कर दी हैं.

कोर्ट ने तय किया है कि हफ्ते में तीन दिन ( मंगलवार, बुधवार और गुरूवार) इस मामले की सुनवाई की जाएगी. उम्मीद जताई जा रही कि नवंबर तक इस मामले का हल निकल आएगा.

निर्मोही अखाड़े की तरफ से इस मामले से जुड़े इतिहास और बाबर शासन काल का जिक्र किया जा रहा है. इस दौरान राजीव धवन ने कोर्ट को टोका तो चीफ जस्टिस ने कहा कि आपको समय दिया जाएगा इसलिए बीच में न बोले, कोर्ट की गरिमा का पूरा खयाल रखें.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top