रविवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा ने कहा कि पिछली सरकार के दौरान हुए फोन टैपिंग मामले को सीबीआई को सौंपा जाएगा. कांग्रेस विधायक दल के नेताओं सहित कई अन्य नेताओं ने इस मामल में जांच की मांग की है.

कर्नाटक में नई सरकार के गठन के बाद से ही फोन टैपिंग का मामले में लगातार जांच की मांग उठ रही थी. जेडीएस के पूर्व नेता एएच विश्वनाथ ने पूर्व की जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन सरकार पर कई नेताओं के फोन टैपिंग और जासूसी करने के आरोप लगाए थे. विश्वनाथ खुद पूर्व की एचडी कुमारस्वामी सरकार का हिस्सा थे.

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने इन आरोपों को खारिज करते हुए ट्वीट में लिखा- ‘मैंने सबसे पहले कहा था कि मुख्यमंत्री का पद स्थायी नहीं होता. मुझे सत्ता में रहने के लिए फोन टैप कराने की कोई जरूरत नहीं थी. मेरे खिलाफ लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं.’

कर्नाटक में 22 दिनों से अकेले सरकार चला रहे मुख्यमंत्री बी.एस.येदियुरप्पा को अंतत: शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से 20 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तार करने की हरी झंडी मिल गई. मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया- भाजपा विधायक दल की बैठक मंगलवार को सुबह 10 बजे विधान सौध के सभागार में होगी. उसी दिन दोपहर को मंत्रिमंडल विस्तार होगा.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top