देहरादून: रक्षाबंधन पर इस बार खास संयोग बन रहे हैं। बहनें अपने भाइयों को इस बार निश्चिंत होकर राखी बांध सकती हैं। उनको किसी तरह की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। इस रक्षा बंधन पर जहां स्वतंत्रता दिवस पड़ रहा है। वहीं, राखी के दिन हर बार रहने वाला भद्रा का साया इस बार नहीं रहेगा।

राखी बांधने का मुहूर्त सूर्याेदय से शुरू हो जाएगा और शाम तक रहेगा। रक्षाबंधन का पर्व श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस बार राखी का पवित्र त्योहार 15 अगस्त को पढ़ रहा है। सबसे बड़ी बात यह है कि यह श्रवण नक्षत्र में विशेष संयोग भी बन रहा है। भद्रा का साया सूर्योदय से पहले ही समाप्त हो जाएगा।

ज्योतिष के अनुसार इस साल पूर्णिमा तिथि एक दिन पहले शुरू होने के कारण ऐसा योग बन रहा है। दरअसल, इस साल पूर्णिमा की तिथि एक दिन पहले यानि 14 अगस्त को ही शाम पौने चार बजे से शुरू होकर, 15 अगस्त को शाम 6 बजे तक रहेगी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top