सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ग्रेटर नोएडा के एक्‍सपो मार्ट में कॉप-14 सम्मलेन में हिस्‍सा लेने पहुंचे. वहां उन्‍होंने सम्‍मेलन को संबोधित किया. इस दौरान उन्‍होंने पानी की समस्‍या को सबके सामने रखा.

कॉप-14 सम्मलेन में प्रधानमंत्री ने पानी की समस्‍या को लेकर कहा कि भारत में जलसकंट को देखते हुए जलशक्ति मंत्रालय बनाया गया था. दुनिया में यह समस्या काफी बढ़ गई है. उन्‍होंने इस पर एक सेमिनार बुलाने की बात कही, जिसमें इसका हल निकाला जा सके. भारत ने इस समस्‍या के निपटारे की ओर कदम बढ़ाया है. यहां पानी बचाने और उसके सही इस्‍तेमाल पर काम शुरू हो चुका है.

साथ ही उन्‍होंने भारत में पेड़ों की संख्‍या बढ़ने का भी उल्‍लेख किया. उन्‍होंने कहा कि भारत का वनक्षेत्र 0.8 मिलयन हेक्‍टेयर बढ़ा है. देश में अभी जंगल के हिस्से को और भी बढ़ाने पर कार्य हो रहा है. सरकार किसानों की आय को दोगुना करने करने की ओर भी बए़ रही है. सिंगल प्‍लास्टिक को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा कि सिंगल प्‍लास्टिक को गुडबॉय कहने का समय आ गया है. भारत इस ओर कदम बढ़ा चुका है. साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए भारत हर तरह का सहयोग करेगा.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top