ऊधमसिंह नगर: ऊधमसिंह नगर में एक सनसनीखेज खुलासा हुआ, जिसे सुन कर हर कोई चैंक गया। 40 लाख की बीमा रकम को हड़पने के लिये चार सगे भाइयों ने फर्जी चोरी की घटना को अंजाम दे डाला, जिसका नतीजा यह हुआ कि चारांे सगे भाइयों को जेल की हवा खानी पड़ी। लालच ने चारों भाइयों को चोर बना डाला। पुलिस ने चारों भाइयों को गिरफ्तार कर चोरी किया गया ट्रक बरामद कर लिया है।

गेहूं के बोरे और ट्रक चोरी की थी सूचना

ऊधमसिंह नगर के किलखेड़ा थाना में 6 सितंबर को दर्ज करायी गयी थी। पुलिस ने चोरी की रिपोर्ट लिखाने वाले ट्रक मालिक और चालक को ही गिरफ्तार कर लिया। दरअसल, कुछ दिन पूर्व किलाखेड़ा थाना के बेरिया गांव के एक व्यक्ति के घर आए एक रिश्तेदार ने मुकदमा दर्ज करवाया था। उसमें बताया गया था कि 400 से अधिक बोरे और ट्रक बेरिया गांव से चोरी हो गया, जिस पर पुलिस अलग-अलग टीमें बनाकर काम कर रही थी। सफलता नहीं मिलने पर पुलिस ने टाटा मोटर्स के तकनीकी विभाग से संपर्क किया। इस पता चला कि इस व्यक्ति ने ट्रक चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी।

नेपाल में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था

जुलाई में नेपाल में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। उस पर जुर्माना लगा था। ट्रक मालिक ने बीमे की धनराशि हड़पने के लिए दूसरे ट्रक पर नेपाल में हुए दुर्घटनाग्रस्त ट्रक की नंबर प्लेट लगाकर उत्तर प्रदेश के एक व्यक्ति से 400 से अधिक कट्टे गेहूं के पंजाब के लिए भरे और उस गेहूं को उत्तर प्रदेश के ही एक सीड प्लांट में बेच दिया।

घर पर मिली चोरी ट्रक की लोकेशन

ट्रक लेकर वह किलाखेड़ा थाना के बेरिया गांव में पहुंचा, जहां से उसका भाई और अन्य लोग ही ट्रक को वापस लेकर चले गए। पुलिस के तकनीकी विभाग और टाटा मोटर्स कंपनी से संपर्क करने पर पता चला कि दुर्घटनाग्रस्त ट्रक की जीपीएस लोकेशन जुलाई माह में नेपाल की दिखा रहा था। अन्य ट्रक की लोकेशन बेरिया गांव तक आई थी और वर्तमान लोकेशन ट्रक मालिक के घर पर ही मिली। इस पर पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तब ट्रक मालिक व उसके चालक भाई और अन्य सहयोगियों के साथ पुलिस ने धर दबोचा।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top