रविवार को वरिष्ठ वकील और पूर्व केंद्रीय कानून मंत्री राम जेठमलानी का उनके नई दिल्ली स्थित आवास पर निधन हो गया. उनके निधन की पुष्टि अधिवक्ता आशीष दीक्षित ने की. जेठमलानी 96 वर्ष के थे.

उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में शहरी विकास मंत्री के रूप में भी काम किया था. 2010 में उन्हें सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया था. अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में राम जेठमलानी केंद्रीय मंत्री रह चुके थे. उन्होंने कानून, न्‍याय और कंपनी अफेयर मंत्री और शहरी विकास मंत्रालय का पद भी संभाला था.

जेठमलानी भाजपा के टिकट पर मुंबई से दो बार लोकसभा का चुनाव भी जीत चुके हैं. हालांकि कई बार वो पार्टी के खिलाफ भी बयान दे चुके हैं. जिसके बाद भाजपा ने पार्टी से बाहर निकाल दिया था. फिर उन्होंने 2004 में लखनऊ से अटल बिहारी वाजपेयी के खिलाफ चुनाव लड़ा . लेकिन वो हार गए .

7 मई 2010 को उन्हें सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया. जेठमलानी की गिनती देश के सबसे महंगे वकीलों में होती थी. जेठमलानी के निधन से शोक की लहर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेठमलानी के निधन पर दुख व्यक्त किया है. इसके साथ ही देश के गृहमंत्री अमित शाह ने जेठमलानी के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि हमने ना केवल एक प्रतिष्ठित वकील खोया है. बल्कि एक महामानव को खो दिया है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top