देहरादून: प्रदेश के सबसे बड़े डिग्री काॅलेज डीएवी पीजी कॉलेज समेत कुमाऊं के सबसे बड़े डिग्री काॅलेज एमबीपीजी काॅलेज में छात्रसंघ चुनाव के लिए वोटिंग चल रही है। प्रदेश के अधिकांश डिग्री काॅलेजों में वैसे तो सीधी जंग हमेशा से ही एनएसयूआई और एबीवपी के बीच रही है, लेकिन पिछले कुछ सालों में उपजे हालातों के बीच आर्यन संगठन, जय हो ग्रुप और कुछ दूसरे छात्र जुटों ने अपने मजबूत दाबेदारी पेश की है।

अगर डीएवी की बात करें तो यहां इस बार की जंग बेहद रोचक है। डीएवी में हमेशा की तरह अध्यक्ष पद पर एबीवीपी और एनएसयूआई के बीच ही मुख्य मुकाबला होना था, लेकिन इस बीच एक ऐसा मोड़ आया, जिसने इस जंग को थोड़ा पेचिदा बना दिया। जिसका नुकसान एबीवीपी को उठाना पड़ सकता है। ये मोड़ एबीवीपी के दो धड़ों में बंटने और खून संघर्ष का है। जिसका लाभ एनएसयूआई को मिल सकता है।

हल्द्वानी में एमबीपीजी काॅलेज के चुनाव भी काफी बड़े स्तर पर होता है। यहां भले कोई तीसरा गुट अब तक उतरा हावी नहीं हो पाया हो, लेकिन काॅलेज का चुनाव हमेशा से ही कांग्रेस और भाजपा का चुनाव हो जाता है। भाजपा-कांग्रेस के बड़े नेता चुनाव प्रचार से लेकर विजय जुलूस तक में शामिल हो जाते हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top