नई दिल्ली: भारतीय रेल विभाग ने एक गजब के कारनामे को अंजाम दिया है। रेलवे ने पिछले तीन सालों में रेलवे स्टेशनों पर चूहों को पकड़ने पर 5 करोड़ 86 लाख रुपये खर्च कर डाले। एक चूहे पर करीब 22 हजार 334 रुपये खर्च कर डाले। इसका खुलासा एक आरटीआई में हुआ है।

चूहों के आतंक से परेशान, भारतीय रेलवे के चेन्नई मंडल ने एक चूहे को पकड़ने के लिए करीब 22,334 रुपये खर्च किए। पिछले तीन सालों में रेलवे अधिकारियों ने इस खतरे से निपटने के लिए 5.89 करोड़ रुपये खर्च कर डाले। आरटीआई के जवाब में, चेन्नई मंडल कार्यालय ने कहा कि वे लोग चूहों के आतंक से पिछले कुछ सालों से काफी परेशान हैं।

चूहे स्टेशन पर परेशानी का सबब बने हुए हैं। रेलवे कोचिंग सेंटर को भी इनके कारण परेशानी उठानी पड़ रही है। मई 2016 से अप्रैल 2019 तक रेलवे अधिकारियों ने चूहों से निजात के लिए 5.89 करोड़ रुपये खर्च किए। 2018 से 2019 के बीच की एक साल के दौरान 2,636 चूहें को पकड़ा गया था।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top