चमोली : जिले के गैरसैण विकास खंड के मटकोट गांव में एक बिमारी के प्रकोप के चलते पूरे गांव और आसपास के क्षेत्र में कोहराम मचा हुआ है. इस बिमारी से अब तक 5 लोगों की मौत हो चुती है लेकिन इस बिमारी के बारे में पता नहीं चल पाया है कि आखिर ये बिमारी है कौनसी है. जबकि इसपर स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि विभाग द्वारा गांव में कैंप लगाया था जिसमें वायरल फीवर की शिकायत मिली थी।

इस पर मटकोट गांव निवासियों ने जानकारी दी कि सितम्बर से अब तक गांव में पांच लोगों की असमयिक मौत हो गई है। वहीं एक महिला की मौत गुरूवार को दिल्ली में हुई। जानकारी मिली कि महिला की तबीयत खराब होने के बाद गंभीर हालत में तीन दिन पहले दिल्ली ले जाया गया था जहां गुरूवार को उसने दम तोड दिया। उन्होंने बताया कि मृतक महिला में डेंगू के लक्षण पाये गये थे। ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग से मांग की है कि गांव में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर प्रत्येक  ग्रामीण के ब्लैड का सैम्पल लेकर उसकी जांच करवायी जाय ताकि बीमारी का पता चल सके।

मृतकों के नाम

मेहरवान सिंह पुत्र आलम सिंह उम्र 33 वर्ष, पारी देवी पत्नी धर्म सिंह उम्र 45, विमला देवी पत्नी कुंवर सिंह 45 वर्ष, ज्वाला सिंह पुत्र इंद्र सिंह 45 वर्ष व गुरूवार को दम तोडने वाली महिला डुमली देवी पत्नी मदनसिह 60 साल.

इधर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गैरसैण के सीएमएस डा. मणिभूषण पंत का कहना है कि सितम्बर अंतिम सप्ताह में दो दिन का कैंप मटकोट गांव में लगाया गया था। यहां पर डेंगू जैसी बीमारी के कोई लक्षण नहीं दिखायी है। वायरल फीवर के लक्षण पाये गये थे। जिसकी ग्रामीणों को दवा दी गई थी। शनिवार को गांव में एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया जा रहा है।

डीएम ने दिए निर्देश

वहीं इस पर चमोली डीएम स्वाति एस भदौरिया का कहना है कि मटकोट गांव में शनिवार को एक दिवसीय स्वास्थ्य शिविर लगाने के लिए सीएमओ को निर्देश दिए गये हैं। ताकि ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच हो सके।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top