पिछले महीने पंजाब के तरनतारन के पंडोरी गोला गांव में हुए बम ब्लास्ट मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. पंजाब पुलिस सूत्रों के मुताबिक आतंकियों की शिरोमणि अकाली दल प्रमुख और राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल को बम उड़ाने की योजना थी. इसके पीछे उनका मकसद पंजाब में एक बार फिर अराजकता की स्थिति को पैदा करना था.

खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुखबीर सिंह बादल को अमृतसर दौरे के दौरान बम धमाका में उड़ाने की साजिश थी. हालांकि आतंकी अपने मंसूबों को अंजाम दे पाते उससे पहले पुलिस ने उनकी इस साजिश को नाकाम कर दिया.

दरअसल, गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और उसके बाद प्रदर्शन कर रहे सिख प्रदर्शनकारियों पर की गई पुलिस फायरिंग की घटना के दौरान सुखबीर सिंह बादल ही राज्य के डिप्टी सीएम थे. इसके साथ ही गृह मंत्रालय और पंजाब पुलिस का जिम्मा भी उनके ही पास था.

दर्शनकारियों पर की गई पुलिस फायरिंग के पीछे सुखबीर बादल को आंतकी साजिशकर्ता मानते थे. इसी वजह से आतंकियों ने सुखबीर सिंह बादल को निशाना बनाकर हमले की साजिश रची थी.

बता दें कि तरनतारन के पंडोरा गोला गांव में खाली प्लॉट में बम दबाकर रखे गए थे. लेकिन बम निकालने के दौरान जमीन की खुदाई में कस्सी (फावड़ा) बम पर लगने से धमाका हो गया. इस धमाके में मौके पर ही दो आतंकी की मौत हो गई थी.

यह घटना 4 सितंबर को पंजाब के तरनतारन के पंडोरी गोला गांव में हुई थी. अब बम ब्लास्ट की जांच में बड़ा खुलासा हुआ है. पंजाब पुलिस सूत्रों के मुताबिक आतंकी शिरोमणि अकाली दल प्रमुख और राज्य के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल को बम धमाके से निशाने पर लेने की साजिश बना रहे थे.

फिलहाल पंजाब पुलिस द्वारा अबतक हुई जांच के पूरे रिकॉर्ड और सबूतों को एनआईए ने अपने कब्जे में ले रखा है.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top