रुड़की : पिछले कई दिनों से वायरल और ड़ेंगू के चपेट में आने से भगवानपुर विधानसभा के कई गाँवों में लगभग 2 दर्जन लोग मौत के मुँह में समा गए. वहीँ दर्जनों लोग अब भी बुखार से पीड़ित हैं लेकिन स्वास्थ्य महकमा कोई सुध लेने को तैयार नहीं है. हालांकि समय समय पर खाना पूर्ति कर अपना पल्ला झाड़ने का काम कर रहा है लेकिन कोई ठोस कार्यवाही विभाग की तरफ से नही की गई.

वहीं बीते दिन पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत मृतकों और अस्पताल में एडमिट डेंगू-वायरल बुखार से पीड़ितों का हालचाल जानने पहुंचे. उन्होंने सिकंदरपुर भैंसवाल सहित छापुर गाँव में भी लोगो के हाल जाने और प्रदेश सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सरकार बिल्कुल खामोश है. स्वास्थ्य विभाग लापरवाह है जिसके चलते लोगों की जाने जा रही है लेकिन कोई कुछ सुध नहीं ले रहा है.

हरीश रावतन ने कहा कि भगवानपुर की विधायक ममता राकेश ने उन्हें इस बाबत अवगत कराया तो उनसे रहा नहीं गया और वह यहाँ आ गए. उन्होंने कहा कि 20 से 25 लोगों की मौत हो चुकी पर सरकार या स्वास्थ्य विभाग ने किसी तरह की साफ सफाई के लिए कोई ठोस कदम अभी तक नहीं उठाये और अब जल्द ही वह स्थानीय विधायक के साथ जिलाधिकारी से इस सम्बंध में बातचीत करेंगे.





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top