उत्तरकाशी : शीतकाल के लिए आज गंगोत्री धाम के कपाट बंद कर दिए गए है। बीते दिनों में यमनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ के कपाट भी बंद हो जाएंगे जिसके बाद चारधाम यात्रा समाप्त हो जाएगी.

आपको बता दें कि आज सुबह 8.30 बजे गंगोत्री मंदिर के कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरु की गई थी। सबसे पहले मां गंगा का मुकुट उतारा गया औऱ निर्वाण दर्शन किए गए। साथ ही वेद मंत्रों के साथ मां की मूर्ति का महाभिषेक के साथ ही विशेष पूजा अर्चना की गई. सेना के बैंड की धुन के साथ ही भक्तों में भारी उत्साह देखा गया। हवन पूजा-अर्चना के साथ दोपहर 11.40 बजे मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए। इसके बाद गंगा की उत्सव डोली मंदिर परिसर से बाहर निकाली गई। यह डोली मुखवा के लिए प्रस्थान करेगी। मुखवा से चार किलोमीटर पहले आज शाम मां गंगा की उत्सव डोली चंदोवती माता मंदिर में विश्राम करेगी। इसके बाद कल सुबह वहां से डोली प्रस्थान कर मुखवा स्थित मां गंगा के मंदिर पहुंचेगी। यहां मां गंगा की मूर्ति को स्थापित कर दिया जाएगा।

आपको बता दें कि भैया दून के दिन यानी की 29 अक्टूबर को केदारनाथ और यमुनोत्री मंदिर के कपाट बंद होंगे वहीं 17 नवंबर को बदरीनाथ मंदिर के कपाट बंद होने हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top