नैनीताल: नैनीताल हाईकोर्ट ने सरकार से जहरीली शराब से मरने वालों को मुआवजा नहीं देने को लेकर जवाब तलब किया है। कोर्ट ने सरकार, आबकारी विभाग और देहरादून के डीएम को तीन सप्ताह में जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं। देहरादून निवासी प्रमोद शर्मा ने जनहित याचिका दायर कर मृतक आश्रितों को मुआवजा देने की मांग की है।

याचिका पर सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन और न्यायमूर्ति रविन्द्र मैठाणी की खंडपीठ ने मामले की सुनवाई की। दरअसल, गत 19 सितंबर को देहरादून में 7 लोगों की जहरीली शराब पीने से मौत हो गई थी और 6 लोग बीमार हो गए थे।याचिका में कहा गया कि हरिद्वार में जहरीली शराब से 32 लोगों की मौत के बाद भी सरकार ने कोई सबक नहीं लिया।

याचिकाकर्ता ने देहरादून में मारे गए लोगों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजा देने की मांग की है। दोनों पक्षों को सुनने के बाद हाईकोर्ट की खंडपीठ ने राज्य सरकार, जिलाधिकारी देहरादून और आबकारी अधिकारी को तीन सप्ताह के भीतर जवाब दाखिल करने को कहा है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top