लखनऊ: पिछले ढाई सालों में उत्तर प्रदेश में कोई दिन ऐसा नहीं गया, जब कोई अपराध ना हुआ है। चोरी, डकैती, लूट अपहरण, बलात्कार और तो और कोई छोटा सा अपराध भी नहीं हुआ। उत्तर प्रदेश के पुलिस के आला अधिकारियों को ये देखकर हैरानी हो रही है कि आखिर ऐसा कैसे संभव हो गया। आलम यह रहा कि प्रदेश के 75 जिलों में एक भी घटना नहीं हुई।

राम मंदिर पर फैसले को लेकर पुलिस ने व्यापक तैयारी की थी। आठ नवंबर की रात जैसे ही यह जानकारी मिली कि 9 नवंबर को सुबह साढ़े 10 बजे फैसला सुनाया जाएगा। उसके बाद से ही डीजीपी से लेकर थानों से लेकर बीट स्तर तक पुलिस को मुस्तैद किया गया। सभी को कड़ी हिदायद दी गई थी। पूरे आॅपरेशन की कमान डीजीपी ओपी सिंह खुद संभाल रहे थे।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top