देहरादून : निजी कॉलेजों की मनमानी के खिलाफ बीते कई दिनों से आयुष छात्रों का धरने जारी है. वहीं बीते दिन धरने पर बैठे छात्रों का समर्थन करने पूर्व सीएम हरीश रावत पहुंचे. इस दौरान हरीश रावत के साथ एक लीगल एडवाइजर भी उनके साथ मौजूद रहा. पूर्व सीएम हरीश रावत ने धरने पर बैठे छात्रों की समस्याएं सुनी।

छात्रों से मिलने का बाद हरीश रावत ने कहा कि छात्रों की मांग जायज है और कॉलेजों में फीस कुछ ज्यादा ही बढ़ोतरी कर दी गई है। हरीश रावत का कहना है कि अघर फीस बढ़ानी ही थी तो वह नियम के अनुसार कुछ प्रतिशत बढ़ाई जाए। हरीश रावत ने कहा कि इस समस्या के समाधान के लिए वह मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और आयुष सचिव दिलीप जावलकर से खुद बात करेंगे।

बता दें कि छात्रों का कहना है कि निजी कॉलेजों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है। वह हाईकोर्ट तक के आदेश का पालन नहीं कर रहे और सरकार मौन साधे बैठी है। कई छात्र अनशन पर बैठक बीमार हो चुके हैं, लेकिन सरकार का कोई नुमाइंदा उनकी सुध लेने नहीं पहुंचा। कहा कि अब वह स्वयं आमरण अनशन पर बैठेंगे। इससे पहले छात्रों, अभिभावकों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार एवं निजी कॉलेजों के खिलाफ नारेबाजी की।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top