हरिद्वार : लक्सर क्षेत्र में नशे का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है. नौजवान युवाओं को नशे की आदत पड़ चुकी है. लकसर के किसी भी मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाती हैं.

युवाओं को बर्बाद करने की यह दवाई स्थानीय निवासियों का कहना है कि यह पूरा खेल स्वास्थ्य विभाग की मिलीभगत से चल रहा है. ड्रग इंस्पेक्टर अभी 2 दिन पहले भी लक्सर में छापामारी कर चुके हैं लेकिन कमाल की बात यह है कि उन्हें एक भी नशे की टेबलेट तक नहीं मिली जिससे स्वास्थ्य विभाग पर सवालिया निशान उठना लाजिम है.

एक स्थानीय निवासी ने आरोप लगाया है कि ड्रग इंस्पेक्टर दो 4 महीने में एक बार आते हैं और मोटी मोटी गड्डियां लेकर चले जाते हैं ऐसा लगता है जैसे स्वास्थ्य विभाग को आम आदमी से कोई सरोकार नहीं रह गया है.  बताया कि लक्सर क्षेत्र गांव में ऐसा कोई भी मेडिकल स्टोर नहीं है जिस पर नशे का यह काला खेल ना चलता हो. लक्सर रेलवे फाटक पर बने ओवर ब्रिज पर नशेड़िओं का आतंक है और वहां पर नशे की दवाइयों के सैकड़ों रैपर पड़े हुए मिले हैं.

अब देखना यह होगा कि स्वास्थ्य विभाग की कुंभकरण की नींद कब टूट पाएगी और नशे का कारोबार करने वाले माफियाओं के खिलाफ कब कार्रवाई हो पाएगी. लक्सर क्षेत्र में युवाओं को अकाल मौत के घाट उतार देने वाला यह खतरनाक नशा किसी भी मेडिकल पर आसानी से मिल जाता है आखिर क्या जिम्मेदार विभाग किसी बड़ी घटना का इंतजार कर रहा है. दोषियों के खिलाफ कब होगी कार्रवाई यह कोई नहीं जानता. वहीं

इस बाबत जब डॉक्टर अनिल वर्मा चिकित्सा अधीक्षक से बात की गई तो उन्होंने बताया कि लक्सर सीओ एस डीएम के साथ मिलकर बहुत जल्द वह ऐसे मेडिकल स्टोर के खिलाफ छापेमारी कर कार्रवाई करेंगे और उन्होंने ऐसी जगह भी चिन्हित कर ली है जहां पर नशेड़ी बैठकर नशा करते हैं उन्होंने कहा कि नशेड़ी को भी समझ आ जाएगा और उन्हें बताया जाएगा कि इससे उनके स्वास्थ्य को कितना नुकसान हो रहा है





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top