शीतकालीन सत्र गैरसैण में न कराए जाने को लेकर जहां सरकार पर सवाल खड़े हो रहे हैं. वहीं भाजपा नेता प्रतिपक्ष इंदिरा पर ऊपर आरोप लगा रहे हैं कि नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री से वार्ता कर गैरसैंण में शीतकालीन सत्र न कराने का अनुरोध किया था.

वहीं भाजपा नेताओं के बयान पर नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदेश ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि उन्होंने ना तो मुख्यमंत्री और ना ही किसी मंत्री और भाजपा नेता से इस संबंध में वार्ता की कि गैरसैंण में सत्र न कराया जाए. साथ ही इंदिरा हृदेश ने हरीश रावत के गैरसैंण में उपवास पर भी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से हरीश रावत के गैरसैंँण में उपवास की जानकारी मिली है हरीश रावत ने उन्हें नहीं बताया की वह ग़ैरसैंँण में उपवास करने वाले हैं।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top