हरिद्वार के ज्वालापुर क्षेत्र में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जिसमे दो नाबालिक बहनों ने अपने डेढ़ साल के भाई की हत्या इसलिये कर दी क्यो की छोटे भाई की देखभाल की जिम्मेदारी की वजह से वे स्कूल नहीं जा पा रहीं थी। 
ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत लोधा मंडी में रहने वाले एक व्यक्ति ने बीते शुक्रवार को अपने डेढ़ साल के बच्चे के लापता होने की शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसके बाद हरकत में आई पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई थी. पूछताछ और सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर चौकाने वाला खुलासा हुआ कि लापता बच्चे की उसकी दो बड़ी बहनों ने हत्या कर दी है। दोनों बहनों में एक सगी और दूसरी चचेरी बहन है।
दरअसल बच्चे के माता पिता दोनो ही काम पर जाते हैं और बच्चे की देखभाल की जिम्मेदारी उसकी बहनों पर है। बच्चे को संभालने के कारण दोनों बहने स्कूल भी नहीं जा पा रहीं थी। इससे परेशान होकर दोनों बहनों ने डेढ़ साल के मासूम को नींद की दवाई खिलाकर बैग में भरकर गंगनहर में फेंक दिया। आरोपी बहनों ने जिस वक्त वारदात को अंजाम दिया उस वक्त सब सोये हुए थे।
आपको बता दें कि पिछले महीने कनखल क्षेत्र में एक माँ ने अपने छः माह के बच्चे को मारकर गंगा में फेंक दिया था उसी घटना पर गौर करके दोनों बहनों को भाई की हत्या की तरकीब सुझी। फ़िलहाल पुलिस ने आरोपी दोनों बहनों को हिरासत में ले लिए है और आगे की करवाई की जा रही है साथ ही लापता मासूम के शव की भी तलाश की जा रही है । नाबालिक बहनों द्वारा मासूम छोटे भाई को मौत के घाट उतारने की घटना से क्षेत्र के लोग अचम्भित हैं।




0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top