देहरादून : देहरादून के दो पुलिसकर्मियों पर डीआईजी की गाज़ गिरी। जी हां रिश्वत लेने के आरोप में डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने दोनों पुलिस कर्मी प्रदीप औऱ रमेश रावत को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर किया।

सहसपुर निवासी व्यापारी ने की शिकायत, रिश्वत लेने का आरोप

बता दें कि बीते दिन मंगलवार को सहसपुर निवासी एक व्यापारी करम सिंह ने दो पुलिसकर्मियों पर उनके स्टाफ को धमका कर रिश्वत लेने का आऱोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है. विकासनगर कोतवाली में दोनों सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया जिसके बाद प्रारंभिक जांच में आरोप सहीं पाया गया। व्यापारी ने आरोप लगाया था कि दोनों पुलिसकर्मियों ने 31 जनवरी की रात को चेकिंग के नाम पर उसके स्टाफ को डरा धमकाकर पैसे लिए.

डीआीजी ने की नाराजगी जाहिर

वहीं पुलिसकर्मियों की इस हरकत से डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर किया औऱ मुकदमा दर्ज कर विधिवत जांच करने के निर्देश दिए हैं।

पथरिया पीर शराब कांड में रही एक सिपाही की भूमिका संदिग्ध

सबसे बड़ी और हैरान कर देने वाली ये है कि दोनों सिपाहियों में से एक सिपाही प्रदीप की पथरिया पीर शराब कांड में भी भूमिका संदिग्ध रही है। जी हां ये वहीं मामला है जिसमे जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गई थी। वहीं मामले में मुकदमे के बाद और बड़ी कारवाई होना तय माना जा रहा है।

विकासनगर कोतवाली में तैनात दोनों सिपाही

जानकारी मिली है कि दोनों ही सिपाही प्रदीप और रमेश रावत विकासनगर कोतवाली में तैनात थे जिन बरोटीवाला में चेकिंग के नाम पर धमकी देकर पीड़ित से 500 रुपये की रिश्वत लेने का आरोप है। DIG के आदेशों पर विकासनगर कोतवाली में दोनों सिपाहियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top