उत्तराखंड शिक्षा विभाग से अभी तक कई ऐसे कारनामे सामने आ चुके हैं जिसे देख और जिसके बारे में सुन सरकार खुद हैरान रह गई और कई आरोपियों पर कार्रवाई हुई. बीते दिनों अल्मोड़ा के मुख्य शिक्षा अधिकारी रिश्वत लेते पकड़े गए। वहीं शिक्षा विभाग का एक ऐसा वीडियो सामने आया है जो कि ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी स्कूलों और गरीब तबके के बच्चों की दशा बयां कर रहा ये वीडियो देख और सुन शिक्षकों की नीयत का पता चला औऱ गांव के बच्चों की स्थिति का भी…कि कैसे उनके मिड डे मील को शिक्षक ही हजम कर जा रहे हैं।

टीचर खा गई मिड डे मील के अंडे और केले

जी हां ताजा मामला रुद्रप्रयाग के प्राथमिक विद्यालय का बताया जा रहा है…जहां एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है…जिसमे शिक्षिका पर स्कूल के बच्चों को मिड डे मील में मिलने वाले अंडे और केले खाने का आऱोप लगा है लेकिन शिक्षिका ने ये आऱोप उलटा भोजनमाता पर ही मढ़ दिया जिससे भोजनमाता गुस्से में आई और भोजनमाता ने शिक्षिका को बद्दुआएं दी। ये सारा वाक्या गांव के ही किसी व्यक्ति नेे कैमरे में कैद कर लिया औऱ साथ ही बच्चों से भी इस बारे में पूछा कि किस-किस को अंडे औऱ केेले मिल रहे हैं और नहीं, जिस पर सभी बच्चों ने हाथ खड़े किए कि उन्हें शानिवार को मिड डे मील के खाने में मिलने वाले केले औऱ अंडे नहीं मिले।  भोजनमाता का आरोप है कि शिक्षिका ही बच्चों के मिड डे मील में मिलने वाले अंडे और केले खा गई औऱ आरोप उन पर मढ़ रही है।

शनिवार को मिलता है बच्चों को अंडा और केला

दरअसल स्कूलों में मध्यान भोजन के दौरान हर अलग दिन का मैन्यू अलग अलग है शनिवार के दिन बच्चों को केले और अंडे दिए जाते हैं लेकिन इस स्कूल में काफी लंबे समय से मध्यान भोजन का मैन्यू का पालन नहीं हो रहा था और आरोप था कि शिक्षिका बच्चों को शनिवार को मिलने वाले अंडे और केले नहीं दे रही है। वहीं ग्रामीणों के द्वारा जब स्कूल कि शिक्षिका से पूछा गया तो उन्होंने भोजन माता पर सारा आरोप मढ़ दिया। ये सुन भोजनमाता का पारा चढ़ गया औऱ भोजनमाता ने बवाल कर दिया और आरोपों को नकारते हुए शिक्षिका पर अंडे औऱ केले खाने का आरोप लगाया।

वहीं ये वीडियो शिक्षा विभाग के पास पहुंच गई है और शिक्षा विभाग जांच में जुट गया है कि आखिरये वीडियो कहां की है औऱ स्कूल में क्या चल रहा है?





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top