नैनीताल : सात समंदर पार से एक दूल्हा अपनी दुल्हनिया लेने पहुंचे उत्तराखंड पहुंचा और वर-वधू ने अग्नि को साक्षी मानकर सात फेरे लिए। जर्मनी के युवक ने कुमाऊंनी रीति-रिवाज से शादी की।

जी हां नैनीताल के चौहानपाटा (रानीबाग) निवासी एक युवती ने जर्मन युवक के साथ हिंदू रीति रिवाज के साथ सात फेरे लिए। इस विवाह ने काफी सुर्खियां बटोरी और वाह-वाही लूटी। लोगों का हुजूम वर-वधू को देखने के लिए उमड़ा। शिवानी के पिता रिटायर्ड फौजी सूबेदार हैं।

मिली जानकारी के अनुसार चौहानपाटा निवासी शिवानी आर्या कतर एयरवेज में एयर होस्टेस हैं जिनकी 5 साल पहले उसकी तैनाती कतर एयरवेज में हुई। इस दौरान शिवानी की मुलाकात कतर एयरवेज में पायलट जर्मनी के डसल डार्फ निवासी पैट्रिक जुम संडे से हुई। दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ी औऱ एक दूसरे से प्यार हो गया।

वहीं दोनों ने शादी करने का फैसला किया। शिवानी की मांग पर पैट्रिक के माता-पिता ने हिंदू रीति रिवाज के साथ शादी करने के लिए हामी भर दी। दूल्हा पक्ष वाले हल्द्वानी पहुंचे और बेटे की शादी हिंदू रीति रिवाज से की। इस  दौरान दूल्हे ने कुमाऊं रीति-रिवाज औऱ परंपरा की तारीफ की। दूल्हा और दूल्हे के माता-पिता कुमाऊंनी परंपरा के फैन हो गए। उन्होंने इस शादी के लिए खुशी जाहिर की।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top