सहारनपुर : समाज में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो किसी की छवि को धूमिल करने के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार रहते हैं और एक दूसरे को नीचा दिखाने से बाज नहीं आते। हमारे देश पूरी दुनिया में एकता की मिसाल पेश करता है। हमारा देश ऐसा देश है जहा सभी धर्मों के लोग मिलजुल कर रहते हैं और एक दूसरे की धर्म की इज्जत करते हैं लेकिन कुछ लोग सांप्रदायिकता के नाम पर देश की छवि खराब कर रहे हैं। जैसे दिल्ली और यूपी में दंगे को ही देख लीजिए। सीएम योगी ने सभी दंगाइयों को चिन्हित कर उनके पोस्टर सरेआम चिपकाए और पुलिस को उनसे जुर्माना वसूलने का आदेश दिया। वो लोग ये भूल जाते हैं कि सच कभी छिप नहीं सकता। कानून के हाथे वाकई लम्बे होते हैं, जिनकी नजरों से ना तो कभी कोई बचा है और ना ही कभी बच सकता है।

फर्जी तरीके से अश्लील वीडियो की एडिटिंग कर सोशल मीडिया पर की वायरल

बता दें की कुछ समय पहले भाजपा के वरिष्ठ नेता मोहित बेनीवाल के खिलाफ सुनियोजित तरीके से षड्यंत्र रचा गया और कुछ शरारती तत्वों द्वारा फर्जी तरीके से अश्लील वीडियो की एडिटिंग कर सोशल मीडिया पर वायलर कर छवि को खराब करने की कोशिश की गई। जिसके बाद भाजपा नेता ने सहारनपुर पुलिस को इसकी शिकायत की और आईटीआई एक्ट में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

जांच रिपोर्ट से सच आया सामने

वहीं मुकदमा दर्ज होने के बाद एसएसपी सहारनपुर दिनेश कुमार के दिशा निर्देश पर पुलिस ने अपनी जांच शुरू की और सच सामने आता गया। गाजियाबाद फॉरेंसिक लैब जांच की रिपोर्ट से साफ हो गया कि फोटो संबंधित भाजपा नेता की नहीं है, बल्कि एडिट कर अश्लील बनाई गई है। इसके साथ ही पुलिस ने जांच में उस वीडियो को भी तलाश लिया है, जिसके स्क्रीनशॉट में भाजपा नेता की फोटो लगाई गई थी। वहीं पुलिस ने जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कहीं है।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top